Inner Page Banner

विकास कार्यक्रम

अंतिम अद्यतन 03-12-2015, 16:26

विकास योजनाओं के कार्यान्वयन के लिए सामान्य दिशानिर्देश

  1. बोर्ड अपने क्षेत्रीय नेटवर्क, बोर्ड की वेबसाइट और मीडिया के माध्यम से कृषक समुदाय में कार्यक्रमों के बारे में व्यापक प्रचार करता है।

  2. दस्तावेजों की अपेक्षित प्रतियों के साथ पूरे देश के प्रमुख मसाला उत्पादक क्षेत्रों के क्षेत्रीय कार्यालयों में आवेदन पत्र प्राप्त किए गए हैं और पात्रता के लिए बोर्ड के अनुदान का पहले लाभ उठाया गया है या नहीं आदि के आधार पर आवेदन पत्रों की संवीक्षा की जाएगी।

  3. क्षेत्र अधिकारी प्रारंभिक क्षेत्रीय जांच करेंगे और जहां खरीद/निर्माण आदि शामिल है, वहां योजनाओं को परमिट आदेश जारी करने के लिए मामलों को सहायक निदेशक को अग्रेषित करेंगे।

  4. क्षेत्र अधिकारी रोपण/स्थापना/निर्माण के बाद अंतिम निरीक्षण आयोजित करेंगे और स्थिति के अनुसार सिफारिश करेंगे। इसके पश्चात् अनुप्रयोग और निरीक्षण रिपोर्ट को ऑनलाइन एफओए प्रणाली में प्रविष्ट किया जाएगा और भुगतान के लिए आंचलिक (जोनल) सहायक निदेशक के पास भेजा जाएगा।

  5. आंचलिक (जोनल) सहायक निदेशक निर्दिष्ट रूप में योजनाओं के आधार पर इस योजना में एक निश्चित प्रतिशत की कसौटी पर जांच करेंगे और दी गई प्रत्यायोजित शक्तियों के भीतर अनुदान मंजूर किया जाएगा। अन्य मामलों को मंजूरी के लिए प्रादेशिक कार्यालय को भेजा जाएगा।

  6. प्रादेशिक उप निदेशक परीक्षण के मामलों के एक प्रतिशत की जांच करेंगे और प्रत्यायोजित शक्तियों के भीतर पात्र मामलों को मंजूरी दी जाएगी। अन्य मामलों का निदेशक द्वारा मंजूरी के लिए मुख्यालय भेजा जाएगा।

  7. सहायक निदेशक/उप निदेशक/निदेशक द्वारा मंजूर मामलों को आवेदक के खातों में भुगतान की व्यवस्था करने के लिए ऑनलाइन के माध्यम से अकाउंट्स प्रभाग को भेजा जाएगा।

 

जिनमें अग्रेषण, सिफारिश और मंजूरी शामिल है, ऐसे सभी आवेदनों का प्रसंस्करण के लिए फील्ड ऑफिस ऑटोमेशन (एफओए) सॉफ्टवेयर का प्रयोग किया जाता है, तथा अंत में किसानों के खाते में ई-भुगतान किया जाता है। प्रणाली बहुत पारदर्शी है और भुगतान की प्रक्रिया को गति प्रदान करती है। विस्तारित समर्थन और प्रशिक्षण कार्यक्रमों के मामले में बोर्ड किसान के खेतों के लिए नियमित रूप से क्षेत्र के दौरों का आयोजन करता है और सामूहिक बैठकों, प्रशिक्षण, प्रदर्शन आदि आयोजित करता है।