मसाला: छोटी इलायची, नीलाम की तारीख: 05-Dec-2019, नीलामकर्ता: Cardamom Planters' Association, Santhanpara, लोटों की संख्या: 94, आवक की मात्रा(कि.ग्रा.): 15129.8, बिकी मात्रा (कि.ग्रा.): 13258, अधिकतम मूल्य (रु./कि.ग्रा.): 2996.00, औसत मूल्य (रु./कि.ग्रा.): 2796.47 मसाला: छोटी इलायची, नीलाम की तारीख: 05-Dec-2019, नीलामकर्ता: The Cardamom Processing & Marketing Co-Operative Society Ltd, Kumily, लोटों की संख्या: 278 , आवक की मात्रा(कि.ग्रा.): 66537.5, बिकी मात्रा (कि.ग्रा.): 64395.7, अधिकतम मूल्य (रु./कि.ग्रा.): 3168.00, औसत मूल्य (रु./कि.ग्रा.): 2834.62 Spice: Large Cardamom, Date: 05-Dec-2019, Market: Singtam, Type: Badadana, Price (Rs./Kg): 438, Spice: Large Cardamom, Date: 05-Dec-2019, Market: Singtam, Type: Chotadana, Price (Rs./Kg): 400, Spice: Large Cardamom, Date: 05-Dec-2019, Market: Gangtok, Type: Badadana, Price (Rs./Kg): 450, Spice: Large Cardamom, Date: 05-Dec-2019, Market: Gangtok, Type: Chotadana, Price (Rs./Kg): 400, Spice: Large Cardamom, Date: 05-Dec-2019, Market: Siliguri, Type: Badadana, Price (Rs./Kg): 520, Spice: Large Cardamom, Date: 05-Dec-2019, Market: Siliguri, Type: Chotadana, Price (Rs./Kg): 407,
Inner Page Banner

बे-पत्ता

अंतिम अद्यतन 12-11-2015, 09:54 HRS
बे-पत्ता image

बे-पत्ता

वानस्पतिक नाम

लॉरेंय नोबिलिस एल.

परिवार

लॉरेसियाई

वाणिज्यिक अंग

पत्ता

विवरण

बे-पत्ता या लॉरेल पत्ता, एक सदा बहार पेड का सूखा पत्ता है और कभी-कभार ही यह पेड 15 से 20 मीटर तक ऊंचा होता है । इस पत्ते का ऊपरी सतह अरोमिल, चमकीला और जैतूनी हरा होता है और निचली सतह फीकी जैतुनी व स्पष्ट नसों व शिराओं सहित होती है । क्रष किए गए पत्तों का सुगंध बढिया व खुश्बूदार होती है और स्वाद ऐरोमाटिक व कडुआ होता है । पत्तों की अकृति 2.5 से 7.5 से.मी. तक की लंबी और 1.6 से 2.5 से.मी. चौडी होती है। इसका आकार दीर्घवृत्ताकार और पत्तों के मूल व नोक शुण्डाकार होते हैं ।

व्युत्पत्ति और प्रसारण

यह मेडिट्टरेनियन देशज पोधा है और यूरोप व कालिफोर्निया के झाडियों वाले इलाके में अधिकतर बढता है ? यूरोप , अमरीका और अरेबिया देशों में इसकी ज्यादातर खेती की जाती है । भारत में वाणिज्यिक रूप में इसकी खेती नहीं होती ।

उपयोग

बे-पत्तों का उपयोग सूप, स्टूज, माँस, मछली साँस और मिष्टान्नों को सुवासित करने में किया जाता है। पत्ते व फल दोनों में सुगंधित उत्तेजक व उपविष गुण है। पत्तों के वाष्पीकृत तेल का मसालों व खाद्योों में सुवासित एजेंट के रूप में प्रयोग किया जाता है और विभिन्न देशों में परंपरागत दवाइयों में इसका प्रयोग किया जाता है। इसके प्रमुख व्यापहारिक-गुण प्रति जीवाणु, प्रतिकवक, हाइपोग्लाइसीमिक, प्रति व्रणोत्पत्ति आदि हैं ।

भारतीय नाम

-

विदेशी नाम

Spanish : Laurel French : Laurier German : Lorbeer Swedish : Lager Arabic : Ghar Dutch : Laurier Italian : Alloro Portuguese : Loureiro Russian : Laur Japanese : Gekkeiju Chinese : Yuch-kuei English : Sweet laurel,Bayleaf